प्रथम विश्व युद्ध के कारण एवं परिणाम पीडीऍफ़ डाउनलोड | प्रथम विश्व युद्ध PDF Download

प्रथम विश्व युद्ध प्रश्न उत्तर

प्रथम विश्व युद्ध कब हुआ था

प्रथम विश्वयुद्ध 28 जुलाई 1914 से लेकर 11 नवंबर 1918 तक चला था।

प्रथम विश्व युद्ध में किसकी हार हुई

यह कहना उचित नहीं होगा  इसकि प्रथम विश्व युद्ध में किसकी हार हुई क्योंकी ये किसी एक या दो देशों की लड़ाई नहीं थी, ये विश्व की लड़ाई थी जिसमें एक ओर Team A  में सर्बिया, ब्रिटेन, जापान, रूस, फ्रांस, इटली और अमेरिका आदि देश थे तो दूसरी ओर Team B में सेंट्रल पावर जर्मनी, ऑस्ट्रिया, हंगरी, बुल्गारिया और ऑटोमन आदि देश थे। जिसमें Team B हार गई, Team A से।

प्रथम विश्व युद्ध के अंत में किस राष्ट्र ने आत्मसमर्पण किया था

प्रथम विश्व युद्ध के अंत में जर्मनी ने आत्मसमर्पण किया था।

प्रथम विश्वयुद्ध के बाद किन देशों से राजतंत्र समाप्त हो गया

प्रथम विश्वयुद्ध के बाद रूस ऑस्ट्रेलिया एवं हंगरी से राजतंत्र समाप्त हो गया था।

प्रथम विश्व युद्ध का तात्कालिक कारण क्या था

प्रथम विश्व युद्ध का तात्कालिक कारण ऑस्ट्रिया के युवराज आर्चड्यूक फ़र्डिनेंड और उनकी पत्नी की हत्या कर दी गई, यही प्रथम विश्व युद्ध का तात्कालिक कारण बना।

प्रथम विश्वयुद्ध के कारणों का वर्णन कीजिए

प्रथम विश्व युद्ध के कारण

1. साम्राज्यवादी शक्तियों में संघर्ष:- यूरोपीय राष्ट्र इंग्लैंड, जर्मनी, फ्रांसष इटली, ऑस्ट्रिया आदि साम्राज्यवादी देश लगे हुए थे उपनिवेशों की छीना झपटी में संघर्ष होना निश्चित था।

2. उग्र राष्ट्रीयता की भावना:- सन् 1870 से 1918 के मध्य यूरोपीय राष्ट्र उग्र राष्ट्रीयता की भावना से ग्रसित थी, अपने राष्ट्र के अलावा उन्हें और कुछ नहीं दिख रहा था, इस प्रकार की उग्र राष्ट्रीयता इंग्लैंड, स्पेन, पुर्तगाल, जर्मनी, इटली, फ्रांस, हालैंड आदि देशों में विकसित हुई।

3. सैनिक गुट बंदी:- बीसवीं सदी में सभी यूरोपीय राष्ट्रों ने स्वयं को दो विरोधी गुटों में अलग कर दिया था, जर्मनी ऑस्ट्रिया, हंगरी और इटली ने अपना ग्रुप बना लिया और फ्रांस, रूस और ब्रिटेन ने अपना गुट बना लिया था।

4. जर्मनी की अति महत्वाकांक्षा:- बिस्मार्क ने जर्मनी का एकीकरण करके उसे अति शक्तिशाली युवा संपन्न राष्ट्र बना दिया था। और वहां का स्वंयसेवक ‘कैसर विलियम द्वितीय’ था। और यह अपना साम्राज्य एशिया और अफ्रीका में फैलाना प्रारंभ कर दिया।

5. फ्रांस-जर्मन शत्रुता:- सन् 1871 में जर्मनी ने फ्रांस से अल्साश तथा लारेंस प्रदेश छीन लिए थे, फ्रांस जर्मनी को अपना शत्रु समझता था और वार करने के लिए प्रतीक्षा में था।

6. अस्त्र शस्त्रों की होड़:- यूरोप के राष्ट्र अपने आप को अधिक शक्तिशाली बनाने के लिए अस्त्र शस्त्रों का निर्माण कर रहे थे। ऐसे में शंका और भय के वातावरण में विश्वयुद्ध आवश्यक हो गया था।

7. ऑस्ट्रिया के युवराज की हत्या:- ऑस्ट्रिया के युवराज की पत्नी सहित किसी शरवाती के एक युवक ने साराजेवो (SARAJEVO) में उनकी हत्या कर दी इसका दोष ऑस्ट्रिया ने सर्बिया पर लगाया यहीं से प्रथम विश्वयुद्ध का आरंभ हुआ।

प्रथम विश्व युद्ध के परिणाम

1. राजतंत्रों की समाप्ति:- प्रथम विश्वयुद्ध के बाद रूस, ऑस्ट्रिया, हंगरी और जर्मनी के राजतंत्रों की समाप्ति हो गई और वहां एक नवीन शासन प्रणाली स्थापित हुई।

2. नवीन राष्ट्रों का उदय:- प्रथम विश्व युद्ध के पश्चात कई सारे राष्ट्रों का जन्म  हुआ जैसे:- चेकोस्लोवाकिया, पोलैंड, युगोस्लाविया, लिथुआनिया आदि देश प्रथम विश्वयुद्ध के बाद विश्व के सामने आए।

3. जनधन की हानि:- एक अनुमान के आधार पर प्रथम विश्वयुद्ध में 6 करोड़ 50 लाख सैनिकों ने भाग लिया था, जिसमें 90 लाख सैनिक मारे गए और 2,500 करोड़ लोग घायल हुए युद्ध से उत्पन्न महामारी में 40 लाख मारे गए, इस तरह से क्षविभिन्न राष्ट्रों की व्यवस्था पूरी तरह बर्बाद हो गई उत्पादन घट गया व्यापार व व्यवसाय चौपट हो गई जिसके कारण कीमतें अत्यधिक बढ़ गई।

4. राष्ट्र संघ का जंग:- इस युद्ध में जनधन की हानि को देखकर अनेक राष्ट्रों ने एक अंतरराष्ट्रीय संस्था की स्थापना की स्थापना आवयश्क संबंधी विश्व शांति की स्थापना के उद्देश्य से सन् 1920 में राष्ट्र संघ की स्थापना की गई थी।

5. राष्ट्रीयता की भावना का विकास:- इस युद्ध के बाद राष्ट्रीयता की भावना का अत्यधिक विकास हुआ राष्ट्रीयता के आधार पर विरोध पुनर्निर्माण किया जाने लगा और अनेक नवीन राष्ट्रों का जन्म हुआ।

6. समाजिक परिणाम:- प्रथम विश्वयुद्ध के बाद जनता के जीवन स्तर को सुधार के प्रयास प्रारंभ हुए कारखानों में काम करने वाले मजदूरों के महत्व को समझा गया और युद्ध में पुरुषों के संलग्न रहने पर स्त्रियों ने विभिन्न कार्यालयों में काम कर कार्य पूरे किए जिससे उनमें आत्मविश्वास पैदा हुआ और वे पुरुषों के बराबर अधिकारों की मांग करने लगे।

Comments